blogid : 319 postid : 446

ग्लैमरस प्रियंका की कामयाबी का सफर

Posted On: 28 Aug, 2010 मस्ती मालगाड़ी में

  • SocialTwist Tell-a-Friend

priyanka chopra hindi blogsभारतीय बॉलिवुड में आज कई ऐसी अभिनेत्रियां हैं जो आधुनिकता को सही तौर से परिभाषित करती हैं. आज हमारे समाज पर सिनेमा का काफी असर पड़ता है और लड़कियों का तो सपना होता है कि वह भी अभिनेत्रियों की तरह दिखें और उनकी किस्मत भी उन सितारों की तरह हो. समाज पर पड़ते असर को भांपते हुए हमने एक प्रयास किया है कि हम अपने पाठकों तक इस मायानगरी की सुंदरियों के बारे में जानकारी लेकर आएं.

आज की जिन अभिनेत्रियों को सफल अभिनेत्रियों की श्रेणी में रखते हैं उनमें से एक है प्रियंका चोपड़ा. द हीरो से लेकर कमीने तक का सफर तय कर चुकी प्रियंका के सामने भी आम लडकी की तरह कई दिक्कतें आईं लेकिन उनकी आशाओं में इतनी उड़ान और हौसलों में इतनी क्षमता थी जो उन्होंने यह सफ़र तय किया.

प्रियंका चोपड़ा का जन्म झारखंड के जमशेदपुर में हुआ था. 18 जुलाई 1982 को जन्मी प्रियंका के पिता अशोक चोपड़ा और मां मधु दोनों पेशे से फिजिशियन हैं. प्रियंका का बचपन कई शहरों में बीता.

कामयाबी का सफर

Hindi Entertainment Blogsवर्ष 2000 में उन्होंने फेमिना मिस इंडिया में दूसरा पायदान हासिल किया और वर्ष 2000 में ही उन्होंने मिस वर्ल्ड का खिताब भी हासिल किया. मिस वर्ल्ड का खिताब हासिल करने वाली वह भारत की पाचंवी महिला थीं. वर्ष 2009 में उन्हें मिस वर्ल्ड के लिए जज के तौर बुलाया गया था.

फिल्मी सफ़र की शुरुआत

प्रियंका चोपड़ा ने अपना फिल्मी सफर 2002 में तमिल फिल्म थमिज़न से शुरु किया था. हिन्दी फिल्मों में उन्होंने शुरुआत फिल्म “द हीरो ” से की थी. उन्हें फिल्म “अदांज” के लिए पहला फिल्मफेयर अवार्ड मिला था. इसके बाद उनकी काफी फिल्में आईं लेकिन बॉक्स ऑफिस पर कोई खास छाप नहीं छोड़ पाईं. लेकिन सफलता के इस दौर में भी उन्होंने मेहनत से मुंह नहीं मोड़ा और जल्द ही परिणाम देखने को भी मिला. डेविड धवन की फिल्म “मुझसे शादी करोगी” के साथ प्रियंका की सफलता की गाड़ी फिर चल पड़ी. इसके बाद आई फिल्म “ऐतराज़” के लिए उन्हें बेस्ट फीमेल विलेन का अवार्ड मिला.

असफलता का दौर

Priyanka Chopra Hindi Blogsवर्ष 2005,2006 और 2007 प्रियंका के फिल्मी सफर के सबसे बुरे दिन साबित हुए. इन तीन सालों में प्रियंका की कई फिल्में आईं और सभी फ्लॉप रहीं. वर्ष 2008 में उनकी छह फिल्में आईं जिनमें से शुरुआती पांच तो फ्लॉप साबित हुईं लेकिन छठी फिल्म मधुर भंडारकर की “फैशन” ने एक बार फिर प्रियंका के सफर में टर्निग प्वाइंट की तरह काम किया.

“फैशन” के लिए उन्हें फिल्मफेयर बेस्ट हिरोइन का अवार्ड भी मिला. सशक्त अभिनय के साथ किरदार मे रम कर काम करने की वजह से फैशन में प्रियंका के काम को बहुत सराहा गया.

फिर लौटा सावन

फैशन फिल्म के बाद एक बार फिर से प्रियंका के जीवन में सफलता आने लगी. वर्ष 2009 में उन्होंने “कमीने” में काम किया. फिल्म की सफलता के साथ इस फिल्म में प्रियंका के काम को भी सराहा गया.

प्रियंका चोपड़ा की ज्योतिषीय विवरणिका देखने के लिए यहां क्लिक करें.


| NEXT



Tags:                     

Rate this Article:

1 Star2 Stars3 Stars4 Stars5 Stars (1 votes, average: 5.00 out of 5)
Loading ... Loading ...

0 प्रतिक्रिया

  • SocialTwist Tell-a-Friend

Post a Comment

CAPTCHA Image
*

Reset

नवीनतम प्रतिक्रियाएंLatest Comments


topic of the week



अन्य ब्लॉग

latest from jagran