blogid : 319 postid : 681263

गैरों को गम देने की फुरसत नहीं

Posted On: 4 Jan, 2014 मस्ती मालगाड़ी में

  • SocialTwist Tell-a-Friend

गैरों को गम देने की फुरसत नहीं होती क्योंकि शायद गैरों द्वारा दिया गया गम दिल पर असर नहीं करता है. यदि दिल पर कोई गम नासूर बनकर चुभता है तो समझ जाना चाहिए कि वो गम किसी अपने द्वारा दिया गया होगा. दीपिका पादुकोण के साथ कुछ ऐसा ही हुआ.


deepika padukoneदीपिक पादुकोण की आंखें जिन्हें दुनिया नशीली आंखें कहती है पर जरा इन आंखों की चमक को ध्यान से देखिए जिसमें एक तिनका नासूर बनकर चुभता हुआ नजर आएगा. दीपिका पादुकोण और रणबीर कपूर का अफेयर चल रहा था शायद ही इस बारे में कोई शख्स ना जानता हो. रणबीर कपूर ने दीपिका पादुकोण का हाथ छोड़ कैटरीना कैफ का हाथ थाम लिया पर इसके बावजूद भी दीपिका के दिल में रणबीर कपूर के लिए प्यार कम नहीं हुआ.

क्यों बेताब है यह हसीना सलमान के लिए ?


‘ये जवानी है दीवानी’ फिल्म में रणबीर कपूर के साथ काम करने से दीपिका पादुकोण ने इंकार नहीं किया बल्कि यह सोचा था कि एक बार फिर से वो कुछ समय रणबीर के साथ व्यतीत कर पाएंगी. दीपिका पादुकोण ने एक मीडिया हाउस को दिए गए इंटरव्यू में कहा था कि उनके सपनों का राजकुमार फिल्म ‘ये जवानी है दीवानी’ के किरदार बनी जैसा होना चाहिए. इस फिल्म में बनी किरदार रणबीर कपूर ने निभाया था. दीपिका की बातों का इशारा तो उनके फैंस समझ ही गए थे.


समाज ने सच्चे प्यार को कई शब्दों में बयान करने की कोशिश की है पर शायद आज तक उन शब्दों को जोड़ ही नहीं पाया जो सच्चे प्यार का अर्थ बयां कर सके. दीपिका पादुकोण के दिल में रणबीर कपूर के लिए जो प्यार है वो काफी हद तक सच्चा है क्योंकि रणबीर कपूर द्वारा उनका दिल तोड़े जाने पर भी वो उनकी जिंदगी में किसी ना किसी रूप में जुड़े रहना चाहती हैं. 5 जनवरी को दीपिका पादुकोण का जन्मदिन है और इस मौके पर उनकी निजी जिंदगी से जुड़ी बातों के अलावा हम उनके 27 वर्ष की उम्र में हिन्दी सिनेमा को बेहतरीन फिल्में देने के लिए बधाई देते हैं.


5 जनवरी को जहां एक तरफ बॉलीवुड की बेहतरीन अदाकारा का जन्मदिन है वहीं दूसरी तरफ इसी दिन उदय चोपड़ा का भी जन्मदिन होता है. उदय चोपड़ा ने अपने पिता यश चोपड़ा की तरह हिन्दी सिनेमा में कुछ खास नाम तो नहीं कमाया पर हां ‘धूम’ जैसी फिल्मों में अली नाम का किरदार निभाकर दर्शकों की नजर तक जरूर पहुंचे हैं.


साल 2013 में दीपिका पादुकोण का नाम रणवीर सिंह के साथ जुड़ा और इसी साल उदय चोपड़ा का नाम नरगिस फाखरी के साथ जुड़ा. दीपिका-रणवीर का तो पता नहीं पर उदय-नरगिस साल 2014 में अपने भाई आदित्य की शादी के बाद स्वयं शादी के बंधन में जरूर बंध सकते हैं.


ब्रेकअप के बाद प्रेमी दोस्त कैसे हो सकता है ?

एक-दूसरे के प्यार को महसूस कर रहे हैं !

ऋषि कपूर के लाडले बनने जा रहे हैं पति देव


deepika padukone love life



Tags:                   

Rate this Article:

1 Star2 Stars3 Stars4 Stars5 Stars (1 votes, average: 5.00 out of 5)
Loading ... Loading ...

1 प्रतिक्रिया

  • SocialTwist Tell-a-Friend

Post a Comment

CAPTCHA Image
*

Reset

नवीनतम प्रतिक्रियाएंLatest Comments

vikash sangwan के द्वारा
January 6, 2014

नजर नजर मिली क्या तेरी नजर से गयी न सूरत मेरी नजर से नजर लगे न तुम्हें किसी की खुदा बचाये बुरी नजर से नजर की बातें नजर ही जाने सुनी है बातें कभी नजर से नजर उठाना नजर झुकाना वो कनखियाँ भी दिखी नजर से वो तेरा जाना नजर चुरा के नजर न आई कहीं नजर से नजर मिला के हो सारी बातें नयी चमक फिर उठी नजर से नजर दिखा के किया है घायल और मुस्कुराना नयी नजर से नजर न आना बहुत दिनों तक छलक पड़े कुछ इसी नजर से भला करे क्यों नजर को टेढ़ी कभी न गिरना किसी नजर से नजर पे चढ़ के सुमन करे क्या नजर है रचना खुली नजर स


topic of the week



अन्य ब्लॉग

latest from jagran