blogid : 319 postid : 755896

सात समंदर पार मिले बॉलिवुड स्टार्स को अपने खोये हुए जुड़वा भाई-बहन, देखिए कैसे हुआ यह अचम्भा

Posted On: 18 Jun, 2014 मस्ती मालगाड़ी में

  • SocialTwist Tell-a-Friend

कुंभ के मेले में बिछड़े दो जुड़वा भाइयों के किस्से आपने भले ही असल जिन्दगी में कभी ना देखे हों लेकिन बॉलिवुड का ये कॉंसेप्ट बहुत पुराना है जहां मां-बाप का हाथ पकड़े दो भाई कुंभ के मेले में घूमने तो जाते हैं लेकिन बहुत भीड़ होने की वजह से एक भाई खो जाता है और करीब 15 सालों बाद फिर से वह अपने भाई का हमशक्ल बनकर वापस आता है…..


अरे नहीं, हम यहां आपको कुंभ के मेले में खोये या मिले जुड़वा बच्चों की कहानी सुनाने नहीं जा रहे हैं….हम तो यहां बॉलिवुड एक्टर्स और कुछ फेमस सिलेब्रिटीज के हमशक्लों से मिलवाने जा रहे हैं जो इसी दुनिया के किसी कोने में मौजूद हैं और फेमस भी हैं. हो सकता है आपको हमारी बातों पर विश्वास ना आए लेकिन नीचे दी जा रही तस्वीरें तो आपको हम पर यकीन करने के लिए मना ही लेंगी…..



bollywood



Read: एक फेयरी टेल लव स्टोरी के हेट स्टोरी में बदलने की पूरी कहानी, पढ़िए नेस वाडिया और प्रीति जिंटा की एक्शन पैक्ड रोमांटिक लाइफ



जिसे देखकर हजारों लड़कियां अपना दिल थाम लेती हैं उसका भी हमशक्ल है. हम बात कर रहे हैं हर्टथ्रॉब जॉन अब्राहम की. ब्रिटेश के ब्रॉडकास्टर और राइटर मुबशीर मलिक जॉन की शक्ल जॉन से हुबहू मिलती है.



john abraham



जंपिंग जैक जीतेन्द्र और चार्ली शीन की शक्ल कितनी ज्यादा मेल खाती है


jitendra





बॉलिवुड के ममाज ब्वॉय रणबीर कपूर के भी हमशक्ल हैं सिमोन हेल्बर्ग के रूप में

ranbir kapoor




रॉजर फेडरर और अरबाज खान (रॉजर फेडरर को यह सुनकर दुख तो जरूर हुआ होगा)

rodger federer





सैफ अली खान का हमशक्ल तो घरों में गैस सिलेंडर सप्लाई करता है. आप इन्हें तो बहुत आसानी से देख सकते हैं.


saif ali khan




स्वीट सी दिया मिर्जा की हमशक्ल एना हैथवे भी उतनी ही क्यूट हैं


diya mirza




लाइट आइज और हॉट बॉडी वाले ऋतिक रोशन के हमशक्ल ब्रेडले कूपर भी हॉटनेस में उन्हें टक्कर देते हैं.

hritik roshan




असिन और कायला इवेल की शक्ल भी आपस में खूब मिलती हैं


asin




एंजेलिना जोली और मिस इंडिया ईशा गुप्ता के फेस कट्स और सेक्स अपील बहुत सिमिलर हैं.


angelina jolie





बार्बी डॉल कैटरीना कैफ और कोबी स्मलडर्स के फेशियल एक्सप्रेशंस देखकर कोई भी उन्हें जुड़वा बहन समझ लेगा.


katrina kaif




वैसे तो ये लिस्ट बॉलिवुड स्टार्स पर केन्द्रित है लेकिन एक राजनीतिज्ञ भी हैं जिनका यहां जिक्र करने से मनोरंजन की मात्रा और थोड़ी बढ़ जाएगी. कपिल सिब्बल और पीटर पेटिग्रू (हम इनके बारे में ज्यादा कुछ नहीं कहने वाले)


kapil sibbal

Read More:

हॉलिवुड की फिल्मों में गलती करने वाले निर्देशकों “जनता माफ नहीं करेगी”

सोचिए अगर ये फिल्में फीमेल वर्जन में बनतीं तो फिल्म और उसकी कहानी का क्या होता

उन खौफनाक चेहरों को देखकर सिहर उठे थे लोग, पर असलियत तो और भी चौंकाने वाली थी

Web Title : look alike of bollywood stars



Tags:                       

Rate this Article:

1 Star2 Stars3 Stars4 Stars5 Stars (1 votes, average: 5.00 out of 5)
Loading ... Loading ...

1 प्रतिक्रिया

  • SocialTwist Tell-a-Friend

Post a Comment

CAPTCHA Image
*

Reset

नवीनतम प्रतिक्रियाएंLatest Comments

Laxman के द्वारा
June 23, 2014

उत्तराखंड परिवहन निगम की पिथौरागढ़ की बसों की दुर्दशा : मुझे पिथौरागढ़ से दिल्ली आना था , पिथौरागढ़ बस स्टेशन के सामने घंटो रुकने के बाद मुझे एक गाडी मिली , जो राजधानी एक्सप्रेस कही जाती है पर उस गाडी की दशा कुछ इस तरह थी. गाडी में सीट की हालत इतनी ख़राब थी की बैठने लायक नहीं थी , धुल इतनी की हाथ रखने पर ही हाथो में मिट्टी लग जाए ,गाडी के शीशे में गंदे निशान , लोगों के उलटी के गंदे निशान, गाडी के बैक साइड में शीशे की जगह टिन का पट्टा, हाई-टेक कही जाने वाली ये बस हाई-टेक सीट्स और पंखो के लिए एक्स्ट्रा चार्ज लेती है लेकिन ना ही उसमे पंखे चले और ना ही सीट्स अपनी जगह से हिली हालाँकि उसमे स्विच और वायर्स लगे थे जो अस्त व्यस्त हालत मे थे, अब आई कंडक्टर की बारी उसने टिकट काटे और छुट्टे पैसे वापिस नहीं किये , ये हमेशा की बात है दिल्ली जाने वाली गाडी में कंडक्टर आधे रस्ते में बदल जाते है और दूसरे कंडक्टर से आप वो छुट्टे मांग नहीं सकते , क्योकि वो उसका काम नई ऐसा कहके वो यात्री को टाल देगा उसी से लेना पड़ेगा चाहे वो कितने भी हो , १ रूपये से ५०० या उससे अधिक ,कंडक्टर चलती गाडी में लोगो से एक बार छुट्टा लेने को कहेगा जब आधे से अधिक लोग सो रहे होंगे इस तरह कुछ लोगो के पैसे तो वैसे ही छूट जायेंगे और उसके बाद वो कहेगा की दूसरा कंडक्टर पैसे वापिस नहीं करेगा, इसके बाद ड्राइवर की बारी , ड्राइवर जहाँ मर्जी वह गाडी रूकाता है ,कितना भी समय और गाडी रोकने के बाद ये भी नई कहेगा की गाडी कितने देर रुकेगी, यह अनुभव मैंने दिल्ली से आते समय बस में लिया टनकपुर से ड्राइवर बदल गया और उसने गाडी इतनी जगह रोकी की कुछ पता ही नई चले , कही पर तेल भरना है करके कही , कही लोहाघाट में इनके डिपो में रुक जायेंगे जिसका टाइम ये कितना भी लेंगे ये कोई नहीं बतायेगा। और परिवहन निगम द्वारा अनुबंधित ढाबो का क्या कहना , भोजनालय में कोई भी भोजन की कोई विशेषता नहीं बस वो लोगो को बेचना है इस उद्देश्य से वो चलाते है इस विषय पर कम्प्लेन तो कई लोग कर चुके है पर कुछ हुआ नहीं अभी तक। एक बार दिल्ली से आते समय आनंद विहार आई एस बी टी पर एक आदमी से मैंने यह पूछा की पिथौरागढ़ की बसें कहा मिलेंगी तो उसने कहा ” वहाँ पर जाओ जो सबसे गन्दी बसें दिखेंगी वो पिथौरागढ़ की होंगी ” मेरी उत्तराखंड परिवहन निगम के उच्च-अधिकारियो से यह विनती है की पिथौरागढ़ से दिल्ली रूट की बसो की दशा सुधारें और ड्राइवर- कंडक्टर को हिदायत दे की वो यात्रियों की सुविधा और सुरक्षा का भी ख्याल रखें जो वो कर सकते हैं। लक्ष्मण , टकाडी


topic of the week



अन्य ब्लॉग

latest from jagran