blogid : 319 postid : 1129996

भारत की पहली महिला सुपरहीरो जिनके एक्शन देख पुरूष कलाकार भी रह जाते थे हैरान

Posted On: 10 Jan, 2016 Entertainment में

  • SocialTwist Tell-a-Friend

इंडिया की पहली महिला सुपरहीरो को जानते हैं आप. सन 1935 में जब भारत में फिल्मों में महिलाओं के काम करने को लेकर कई सारे टैबू थे और फिल्मों में पुरूष ही महिला किरदार भी निभाया करते थे. ऐसे में एक महिला सिल्वर स्क्रीन पर उभरती है वह भी महिलाओं के लिए बने पारंपरिक भूमिका में नहीं बल्कि एक ऐसी भूमिका में जिसमें वह चट्टानों से कूदती है, चलती ट्रेन पर मारपीट करती है, पुरूषों पर लात-घूसों की बरसात करती है और शिर के साथ भी लड़ती है. यह फिल्म थी बी.एच वाडिया और होमी वाडिया की वाडिया मूवीटोन बैनर तले बनी फिल्म हंटरवाली. इस फिल्म में लीड रोल निभाया था नाडिया ने जो उस समय के लिहाज से भारत में किसी महिला द्वारा ऐसे चरित्र को निभाने का फैसला बेहद क्रांतिकारी था.


603839-nadia


नाडिया मूल रूप से भारत की नागरिक नहीं थी. उनके पिता स्कॉटलैंड के और माता ग्रीक थी और उनका जन्म पश्चिम ऑस्ट्रेलिया में हुआ था. भारत में नाडिया एक छोटी लड़की के रूप में आईं थी और उनका तब नाम था मैरी एन ईवान्स. बचपन में उन्हें नाचने और गाने का शौक था. प्रथम विश्व युद्ध के दौरान वह अपने परिवार के साथ नॉर्थ ईस्ट प्रंटियर प्रोविंस से मुंबई आ गईं.


Read: इस क्रिकेट खिलाड़ी ने अभिनेत्री की अंतरंग तस्वीरें लीक करने की धमकी दी


उस समय नाडिया थोड़ी मोटी हुआ करती थीं इसलिए उन्होंने एक डांस स्कूल जॉइन कर लिया. यह स्कूल रूस की एक नर्तकी मैडम एसट्रोवा द्वारा चलाया जाता था. मैडम एस्टोवा ने नाडिया को अपने ट्रैवलींग ट्रुप के लिए चुन लिया. वहां एक भविष्यवक्ता ने उन्हें सुझाव दिया कि वे अपना नाम बदलकर एन पर रख ले. तब मैरी एन ईवान्स ने अपने लिए नाडिया नाम चुना. एक नर्तकी के रूप में उनका कॅरियर शानदार चल रहा था लेकिन उन्होंने कुछ दिनों बाद नर्तकी का पेशा बदलकर एक सर्कस ज्वाइन कर लिया. खैर सर्कस की नौकरी वह ज्यादा दिन तक नहीं कर सकीं और वापस डांसर के अपने पुराने पेशे में लौट आईं. जब एक सिनेमा के मालिक की नजर नाडिया पर पड़ी तो उसने उनके बारे में फिल्म निर्माता जे.बी.एच वाडिया से की जिसके बाद नाडिया एक नए सफर पर निकल पड़ी.


fearless-nadia-hunterwali


हालांकि नाडिया की भाषा एक बाधा थी उनके हिन्दी फिल्मों में बतौर हिरोईन काम करने में. सबसे पहले 1935 में उन्होंने ‘देश दीपक’ नाम की एक फिल्म में छोटी सी भूमिका निभाई. 1935 में ही आई एक फिल्म नूर-ए-यमन में उन्होंने एक राजकुमारी की भूमिका निभाई. दर्शकों से उनकी भूमिका के लिए सकारात्मक रिस्पांस मिलने के बाद वाडिया उन्हें ‘हंटरवाली’ में दर्शकों के सामने लाए. इस फिल्म ने सिनेमाघरों में धूम मचा दी.


nadia-mar18


नाडिया ने इस फिल्म में उपनी सभी स्टंट खुद से किए. किसी महिला को परदे पर ऐसे मुश्किल स्टंट करते देख भारतीय दर्शक हतप्रभ थे. इस फिल्म में नाडिया चेहरे पर मास्क पहने और हाथों में हंटर लिए एक सुपरहीरो के किरादार में नजर आईं. भारतीयों को हंटरवाली के किरदार में नाडिया पसंद आई यह बेहद आश्चर्यजनक बात थी क्योंकि उस समय तक भारतीय समाज को बेहद रूढ़ीवादी समझा जाता था. हालांकि नाडिया ने इस बोल्ड किरदार को निभाकर भारतीय फिल्मों मे दूसरी महिलाओं के लिए एक रास्ता प्रशस्त किया और भारतीय महिलाओं के लिए भी फिल्मों में अभिनय, कॅरियर का एक नया विकल्प बन सकी. Next…



Read more:

कल की बाल कलाकार आज की विवादित अभिनेत्री, जानें पर्दे के पीछे का सच

बॉलीवुड की दुनिया छोड़ ये अभिनेत्री बनी एक संन्यासिन

इस अभिनेत्री का होगा न्यूड फोटोशूट: फतवा जारी



Tags:                       

Rate this Article:

1 Star2 Stars3 Stars4 Stars5 Stars (No Ratings Yet)
Loading ... Loading ...

0 प्रतिक्रिया

  • SocialTwist Tell-a-Friend

Post a Comment

CAPTCHA Image
*

Reset

नवीनतम प्रतिक्रियाएंLatest Comments


topic of the week



अन्य ब्लॉग

latest from jagran