blogid : 319 postid : 1269141

कारगिल के दौरान सेना के साथ रह चुके हैं नाना पाटेकर, ‘कैप्टन’ की मिल चुकी है उपाधि

Posted On: 6 Oct, 2016 Entertainment में

  • SocialTwist Tell-a-Friend

बॉने न केवल प्रहार मे बल्कि ‘कोहराम’ मे भी फौजी की भूमिका निभा चुके हैं. साथ ही उन्होंने 26/11 जैसी बेहतरीन फिल्मों मे अभिनय किया है.
गांव मे रहते हैं नाना
नाना पाटेकर चमक धमक स दूर गांव में सादा जीवन जीत हैं. नाना कहते हैं वो खुद गरीब परिवरा से आए हैं इसलिए गरीबों का दुख समझते हैं और उन्हें अपना सादगी भरा जीवन बहुत अच्छा लगता है.
‘नाम फाउंडेशन’ चलाते हैं
नाना पाटेकर नाना पाटेकर ‘नाम फाउंडेशन’ नाम से एक एनजीओ चलाते हैं.  ये फाउंडेशन शिक्षा के लिए, अनाथ बच्चों के लिए, सूखा पीड़ितों किसानों के लिए काम करता है…Next
Read More:

बॉलीवुड के सबसे बेहतरीन कलाकारों में शुमार नाना पाटेकर अन्य बॉलीवुड कलाकारों से हटकर हैं. नाना अन्य कलाकारों की तरह न मंहगी गाड़ियों में घूमते हैं न ही किसी मंहगे घर में रहते हैं. वह अपनी सैलरी किसान और सेना पर लूटा देते हैं. आज हम आपको रूबरू कराएंगे नाना के जीवन से जुड़ी बेहतरीन फैक्ट्स जो उन्हें रियल लाइफ हीरो बनाते हैं.


nana-army1


फिल्म ‘प्रहार’ में निभाया था सैनिक का किरदार

नान ने फिल्म ‘प्रहार’ में एक सैनिक की भूमिका निभाई थी. इस किरदार को पर्दे पर असल दिखाने के लिए नाना ने अपना वक्त भारतीय सैनिकों के साथ बिताया था और इस दौरान वो वहां एक स्टार नहीं बल्कि एक सैनिक के तौर पर रहे थे.


प्रहार के लिए ली थी सेना की कड़ी ट्रेनिंग

नाना ने अपने किरदार को जीने के लिए सेना का सहारा लिया था. नाना ने करीब तीन महीने तक पुणे जाकर ट्रेनिंग ली, ताकि फिल्म ‘प्रहार’ में कमांडो के किरदार को वो बेहतर तरीके से पर्दे पर दिखा सकें. यह फिल्म नाना पाटेकर की डायरेक्टार डेब्यू फिल्म थी.


nana-p


सेना में ‘कैप्टन’ की उपाधि से सम्मानित

जब नाना अपने फिल्म प्रहार के लिए सेना के साथ जुड़े थे, उस वक्त सेना उनके साहस से बेहद प्रभावित हुई और उन्हें ‘कैप्टन’ की उपाधि से सम्मानित किया गया था.


nana kargi;

कारगिल युद्ध के दौरान सैनिकों का हौंसला बढ़ाते थे नाना

कारगिल के दौरान नाना ने अपने सैनिकों का हौंसला बढाने के लिए युद्ध क्षेत्र में गए थे. वो एक पोस्ट से दूसरे पोस्ट तक जाकर सैनिकों का हौंसला बढ़ाते थे. इसी दौरान नाना ने सैनिकों की सेवा की थी और उन्हें देश की असली ताकत बताया था. उन दिनों नाना ने लंबा वक्त सैनिकों के साथ गुजारा.


Read:  बाहुबली-2 की जबरदस्त तैयारी, एक्टर ने बनाई है स्टनिंग बॉडी


कई फिल्मों में निभाई है फौजी की भूमिका

नाना ने न केवल प्रहार मे बल्कि ‘कोहराम’ मे भी फौजी की भूमिका निभाई है. साथ ही उन्होंने 26/11 जैसी बेहतरीन फिल्मों मे अभिनय किया है.


fauji nana



गांव मे रहते हैं नाना

नाना पाटेकर चमक धमक से दूर गांव में सादा जीवन जीते हैं. नाना कहते हैं वो खुद गरीब परिवार से आएं हैं, इसलिए गरीबों का दुख समझते हैं और उन्हें अपना सादगी भरा जीवन बहुत अच्छा लगता है.


nana life


‘नाम फाउंडेशन’ चलाते हैं

नाना पाटेकर ‘नाम फाउंडेशन’ नाम से एक एनजीओ चलाते हैं. ये फाउंडेशन शिक्षा के लिए, अनाथ बच्चों के लिए, सूखा पीड़ितों व किसानों के लिए काम करता है…Next


Read More:

शूटिंग के लंच ब्रेक में देव आनंद ने रचाई थी शादी, फिल्मी है इनकी प्रेम कहानी

सैफ-करीना का ये आलीशान घर –’पटौदी पैलेस’, जहां हैं 150 कमरें और 100 नौकर…देखें तस्वीरें

80 करोड़ में बनी धोनी की फिल्म, तोड़े शाहरुख, अक्षय के रिकॉर्ड और कमाएं इतने करोड़



Tags:                           

Rate this Article:

1 Star2 Stars3 Stars4 Stars5 Stars (1 votes, average: 1.00 out of 5)
Loading ... Loading ...

2 प्रतिक्रिया

  • SocialTwist Tell-a-Friend

Post a Comment

CAPTCHA Image
*

Reset

नवीनतम प्रतिक्रियाएंLatest Comments

Elida के द्वारा
October 17, 2016

On a le même soucis avec les coiffeurs à ce que je vois.On devrait monter un front anfitcoi-feur et poser des bombes devand leurs vitrines, expéditif ? non !


topic of the week



अन्य ब्लॉग

latest from jagran